बच्चो के लिए सबसे मजेदार 15 हिंदी कहानियाँ : Hindi Story for Kids

बच्चों की खासी आवश्यकता है अच्छी कहानियों की, जो उनके मनोबल को बढ़ा सकें और उनके विकास को सहायक हो सकें। इसलिए, हम आपके लिए एक खास संग्रह लेकर आए हैं – “hindi story for kids बच्चों के लिए: 15 कहानियाँ”। इस लेख में, हम आपको 15 अद्भुत हिन्दी कहानियाँ प्रस्तुत करेंगे जो आपके बच्चों को मनोरंजन और शिक्षा दोनों का साथ देंगी।

Hindi Story for Kids

hindi story for kids : “भगवान गणेश की कहानी”

Hindi Story for Kids

1.hindi story का शीर्षक: भगवान गणेश का उपहास !

कहानी एक समय की है, जब भगवान गणेश अपने भक्तों के बीच घूम रहे थे। एक दिन, उन्होंने चंद्रमा को देखा, जो अपनी सुंदरता पर गर्व कर रहा था। चंद्रमा अपनी सुंदरता को लेकर बहुत गर्मी में था। वह लोगों से अपनी सुंदरता की तारीक दिखाता रहा था।

गणेश ने देखा कि चंद्रमा बहुत घमंडी हो गया है और लोगों को उसके उपहास का निशाना बना रहा है। इस पर उन्होंने चंद्रमा से पूछा, “चंद्रमा, क्या तुम अपनी सुंदरता के साथ अहमियती बातें भूल गए हो?”

चंद्रमा थोड़ी देर सोचा और फिर कहा, “नहीं, मैंने कभी अपनी सुंदरता को नकारने का दावा नहीं किया है।”

गणेश ने उसकी ओर इशारा किया और कहा, “चंद्रमा, यह तुम्हारा गर्व है, लेकिन यह भी याद रखो कि सबकुछ भगवान की कृपा से है। तुम्हारी सुंदरता के बिना यह सृष्टि अधूरी है।”

चंद्रमा ने अपनी गर्मी कम करके नम्र रूप में दिखाने का निशाना बनाया और गणेश की बातों की समझ गया। उसका घमंड चला गया और वह अपनी सुंदरता को हमेशा के लिए हुमाने लागू कर दिया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हमें अपने गुणों पर गर्व करना ठीक है, लेकिन हमें कभी भी घमंड में नहीं आना चाहिए। सबकुछ हमारे ऊपर नहीं है, और हमें आपसी समझदारी और नम्रता के साथ रहना चाहिए।

निष्कर्ष: इसी तरह की रोचक कहानियों को पढ़कर बच्चे सीखते हैं कि कैसे अच्छे गुण और नम्रता हमारे जीवन में महत्वपूर्ण हैं। यह कहानी उन्हें इस महत्वपूर्ण सन्देश को समझने में मदद करती है।

2.hindi story का शीर्षक:सिंह और बंदर की दोस्ती

यह कहानी है एक जंगल में एक सिंह और एक बंदर की। वह दोनों बड़े ही अच्छे दोस्त थे। वे साथ खेलते थे, एक-दूसरे की सहायता करते थे और हमेशा मिलकर खुश रहते थे।

जंगल में एक दिन बड़ा ही भयानक शेर आया। वह दोनों की ओर आया और बोला, “तुम दोनों बड़े अच्छे दोस्त हो, लेकिन मुझे भूख लगी है और मुझे खाने की तलाश है।”

सिंह और बंदर डरकर बोले, “शेर जी, कृपया हमें खा नहीं लीजिए। हम छोटे हैं और आप हमारे लिए बड़े हैं। हम आपके साथ दोस्ती करना चाहते हैं।”

शेर ने उनकी बात सुनी और सोचा कि दोस्ती की अहमियत समझना चाहिए। उसने हाँ कह दी और तीनों दोस्त बन गए।

अब वे साथ मिलकर खेलते थे, साथ में समय बिताते थे, और एक-दूसरे की मदद करते थे। उनकी दोस्ती ने उन्हें जंगल की सबसे मजबूत ताक़त बना दिया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि दोस्ती की महत्ता हमारे जीवन में बहुत बड़ी होती है। हमें अपने दोस्तों के साथ मिलकर खुश रहना चाहिए और उनकी मदद करना चाहिए, चाहे वो हमारे जैसे हों या थोड़े अलग हों। दोस्ती हमें मजबूत बनाती है और सभी समस्याओं का समाधान ढूंढने में मदद करती है।

निष्कर्ष: दोस्ती में सच्चाई, समर्पण, और सहायता हमेशा महत्वपूर्ण होते हैं, चाहे हम इंसान हों या जानवर। यह कहानी दोस्ती की महत्ता को समझाने के लिए हमारे बच्चों को एक महत्वपूर्ण सन्देश देती है।

3.hindi story का शीर्षक: अलादीन और जादू का चिराग

कहानी वह समय की है, जब एक छोटे से गाँव में एक लड़का नामक अलादीन रहता था। वह बड़े ही आलसी था और कभी काम नहीं करता था। उसके पास कुछ भी नहीं था, और वह हमेशा गरीबी में रहता था।

एक दिन, अलादीन गाँव के बाजार में घूम रहा था, जब उसका नजर एक अजीब चिराग पर पड़ा। वह चिराग बड़ा ही पुराना और धूल-मिट्टी से भरा हुआ था। अलादीन ने उस चिराग को लिया और उस पर रगड़ने लगा।

तभी चिराग से एक जादू की ध्वनि आई, और एक जादूगर आकर्षित हो उठा। वह जादूगर अलादीन से बोला, “धन्यवाद, तुमने मुझे छुड़ा दिया! अब मैं तुम्हारी तीन इच्छाएँ पूरी करूँगा।”

अलादीन बड़े आश्चर्य से जादूगर की बात सुना। वह तीन इच्छाएँ की। पहली इच्छा पर वह अपने गाँव में अमीर हो गया, दूसरी इच्छा पर वह एक सुंदर राजकुमारी से शादी कर ली, और तीसरी इच्छा पर वह सभी गरीबों की मदद करने का कार्य करने लगा।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि दिल से किए गए अच्छे काम हमेशा बढ़िया फल देते हैं। अलादीन की मेहनत और दिल से आए इच्छाएँ उसके जीवन को सुखमय बनाईं और उसने दूसरों की मदद करके समाज में सुधार किया।

निष्कर्ष: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि सफलता में मेहनत और सही दिशा का चयन किया जाना महत्वपूर्ण है। हमें दूसरों की मदद करने का संकल्प भी रखना चाहिए।

Hindi Story for Kids – “सोनू का सपना”

4.हिन्दी कहानी का शीर्षक: सोनू की मिठासी सपना !

कहानी एक छोटे से गाँव के एक छोटे से लड़के सोनू की है। सोनू गरीब परिवार से था, लेकिन उसमें खुशी की अद्भुत ख़ुशबू थी। उसका सपना था कि वह बड़ा होकर बड़ा आदमी बने और अपने परिवार को खुशियों से भर दे।

एक दिन, सोनू गाँव के मेले में गया। वह वहां एक मग़िया दिखाई दिया, जिसमें ख़ूबसूरत मोहरें और रत्न थे। मग़िया का मालिक बोला, “जो भी इस मग़िया को खोद कर रत्न निकालता है, वह वो रत्न अपने पास रख सकता है।”

सोनू ने मग़िया को खोदने का प्रयास किया और सफलता पाई। उसने अपने परिवार के साथ वो रत्नों का आनंद उठाया और अपने सपने को पूरा किया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि सपनों को पूरा करने के लिए मेहनत, संघर्ष, और आत्मविश्वास की आवश्यकता होती है। सोनू ने अपने सपने को पूरा करने के लिए कभी हार नहीं मानी और आख़िरकार सफल हुआ।

निष्कर्ष: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हालात चाहे भी कठिन क्यों न हों, हमारा सपना हमारी मेहनत और आत्मविश्वास से पूरा हो सकता है।

Hindi Story for Kids – “गर्मी की छुट्टी”

5.हिन्दी कहानी का शीर्षक: गर्मी की छुट्टी का मजा!

कहानी वह दिन की है, जब सुमित नामक एक छोटे से गाँव के बच्चे को गर्मी की छुट्टी का इंतजार था। गर्मी के महीने आ गए थे और सुमित बड़े उत्साहित था क्योंकि उसके पास अब बिना पढ़ाई के मस्ती करने का मौका होता।

पहले दिन सुमित अपने दोस्तों के साथ गाँव के खेतों में खेलने गया। वहां उन्होंने बड़े मजेदार खेल खेले और आसमान में उड़ान भरी।

दूसरे दिन, सुमित अपने दोस्तों के साथ नदी के किनारे गया। वहां वे नदी में स्नान करके खेले और मित्रों के साथ मस्ती की।

तीसरे दिन, सुमित और उसके दोस्त जंगल में गए। वहां उन्होंने प्राकृतिक जीवन को देखा और अपनी आंखों के सामने जंगल के वन्य जीवों की सुंदरता का आनंद लिया।

गर्मी की छुट्टी के तीन दिन बहुत ही अच्छे तरीके से बिते। सुमित ने नए दोस्त बनाए, नए अनुभव प्राप्त किए, और खुद को अधिक खुश महसूस किया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि छुट्टियों का समय बिना पढ़ाई के भी मस्ती करने का होता है, लेकिन हमें नए अनुभवों का भी आनंद लेना चाहिए। सुमित ने गर्मी की छुट्टी का सही तरीके से आनंद लिया और नए दोस्तों के साथ मेहनत और मस्ती का संतुलन बनाया।

निष्कर्ष: छुट्टियों का समय हमारे जीवन में महत्वपूर्ण होता है, लेकिन हमें इसका सही तरीके से उपयोग करना चाहिए। नए अनुभव प्राप्त करने का आनंद लेना चाहिए और दोस्तों के साथ समय बिताना बेहद महत्वपूर्ण होता है।

Hindi Story for Kids – “लालची कौवा”

6.हिन्दी कहानी का शीर्षक: लालची कौवा की सिख!

कहानी एक गाँव में एक लालची कौवे की है। वह कौवा बहुत ही लालची था और हमेशा दूसरों के खाने के लिए चिंता करता था। एक दिन, उसने एक फलकी खोजी और उसमें से बहुत सारे सोने के सिक्के निकाले।

कौवा खुशी-खुशी उन सिक्कों को अपने घर में रख दिया। लेकिन उसकी लालच में उसने यह नहीं देखा कि एक बड़ा ग़द्दार भालू उसकी हरकतें देख रहा था।

एक दिन, कौवा अपने सिक्कों की खोज में और ज्यादा लालची हो गया और उसने बहुत सारे सिक्के लाकर उन्हें अपने घर में रख दिया।

बड़े ही खुश होकर, कौवा अपने सिक्कों की दिखाने के लिए अपने दोस्तों के पास गया। उन्होंने उसकी सिक्कों की महक ली और उन्होंने पूछा, “कौवा भैया, इतने सारे सोने के सिक्के कहाँ से मिले?”

कौवा खुशी-खुशी अपने ख़ज़ाने के बारे में बताने लगा, लेकिन उसने देखा कि उसके दोस्तों की आंखों में दुख और आश्चर्य की आंखों में ख़बरी लालच की आंखों में था।

उसके बाद, बड़े दुखी होकर, कौवा ने सिक्कों को लोटा दिया और उसके दोस्तों से माफ़ी मांगी। उसने समझा कि लालच करने से कभी भी कोई भी बड़ा नुक़सान हो सकता है।

निष्कर्ष: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि लालच से किया गया कोई भी काम नुक़सानदायक हो सकता है। हमें अपनी लालची भावनाओं को नियंत्रित करना चाहिए और दूसरों के साथ साझा करने की महत्वपूर्णता को समझना चाहिए।

Hindi Story for Kids – “बूढ़ा और उसकी बिल्ली”

7.हिन्दी कहानी का शीर्षक: बूढ़ा और उसकी प्रिय बिल्ली

कहानी एक छोटे से गाँव के एक बूढ़े आदमी की है, जिनका नाम रामचंद था। रामचंद बड़े संतुष्ट और शांत स्वभाव के थे।

रामचंद की सबसे बड़ी प्रिय चीज़ थी उसकी प्यारी सी बिल्ली, जिसका नाम मियाऊ था। मियाऊ उसकी आत्मा थी, और वह हमेशा उसके साथ होती थी।

एक दिन, रामचंद को बहुत दुखी खबर मिली कि मियाऊ बीमार हो गई है। उसने डॉक्टर को बुलाया और मियाऊ का इलाज कराया।

मियाऊ की बीमारी से रामचंद बहुत चिंतित थे और वह रोज़ उसके पास बैठकर उसका ख्याल रखते थे।

वक़्त बीतता गया और मियाऊ की स्वास्थ्य में सुधार हुआ। रामचंद और मियाऊ की दोस्ती और भी गहरी हो गई। वे एक-दूसरे के साथ बिताए गए समय का आनंद लेते थे।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि प्रेम और साझेदारी किसी भी वयस्क और उसके पालतू पशु के बीच महत्वपूर्ण है। रामचंद और मियाऊ की दोस्ती ने उनके जीवन को खुशियों से भर दिया और उन्हें एक-दूसरे के साथ बिताए गए समय का आनंद दिलाया।

निष्कर्ष: यह कहानी हमें यह सिखाती है कि प्रेम और संबंध हमारे जीवन को खुशियों से भर सकते हैं, चाहे वो हमारे पशु मित्र हों या दूसरे लोग।

Hindi Story for Kids – “आलसी गधा”

8.हिन्दी कहानी का शीर्षक: आलसी गधा का सबक !

कहानी एक गाँव में एक आलसी गधे की है। गधा नामक गजोदर बहुत ही आलसी था। वह दिन भर सिर्फ़ सोता रहता और काम करने की बजाय आराम करने का शौक़ रखता था।

एक दिन, गाँव के लोग एक महत्वपूर्ण काम के लिए सब एकजुट हुए। वे एक बड़ा गड्ढा खोदने का काम कर रहे थे। गजोदर को भी काम में लगने का मौक़ा मिला, लेकिन वह काम करने की बजाय यह सोच रहा था कि यह तो बिल्कुल बेकार काम है।

गजोदर बड़ी देर से आराम करता रहा और अख़िरकार उसे नींद आ गई। जब वह उठा, तो वह देखा कि गड्ढा पूरी तरह से खोद चुका था और काम पूरा हो गया था।

गजोदर बड़ी ही दुखी हुआ और समझ गया कि उसका आलसी रवैया उसे नुक़सान पहुँचाने के बजाय कोई भी फ़ायदा नहीं दिला सकता है।

निष्कर्ष: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि आलस्य केवल समय की गवाही नहीं देता, बल्कि हमारे जीवन को भी प्रभावित कर सकता है। हमें आलसी नहीं होना चाहिए और काम को समय पर करना चाहिए, क्योंकि समय के साथ ही हमारी सफलता आती है।

Hindi Story for Kids – “सिन्दरेला”

9.हिन्दी कहानी का शीर्षक: सिन्दरेला की कहानी !

यह कहानी एक सुंदर गाँव में रहने वाली एक सुंदर सी किशोरी सिन्दरेला की है। सिन्दरेला बहुत ही सुंदर और दयालु थी, लेकिन उसकी ज़िन्दगी में उसकी सौतेली माता और बहनें उसके खिलवाड़ी थीं।

एक दिन, गाँव में एक बड़ा महल का दरबार हुआ। सभी लड़कियाँ उसमें जाने के लिए उत्सुक थीं, लेकिन सिन्दरेला को उसमें जाने की इज़ाज़त नहीं थी।

सिन्दरेला का सपना था कि वह भी दरबार में जाए और राजकुमार से मिले, लेकिन उसकी सौतेली माता ने उसे यह साबित करने के लिए कठिनाइयाँ बना दी।

फिर एक दिन, एक फ़ेयरी गॉडमदर की मदद से सिन्दरेला के सपने पूरे हुए। वह उसे एक ख़ास गुदड़ी के साथ दरबार में भेज दी, लेकिन वक़्त के बाद सिन्दरेला को वापस आकर अपने पुराने जीवन में लौटना था।

राजकुमार सिन्दरेला की सुंदरता और सौदार्य को पहचान गए और वह उसे अपने साथ लेकर चले गए। इसके बाद, सिन्दरेला और राजकुमार की शादी हुई और वे साथ में खुशियों के साथ जीवन बिताने लगे।

निष्कर्ष: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि ईमानदारी, संघर्ष और सहानुभूति से सपने पूरे हो सकते हैं। सिन्दरेला की ईमानदारी और अच्छे कामों का फला उसे मिला और उसका सपना सच हुआ।

Hindi Story for Kids – “पिता की सीख”

10.हिन्दी कहानी का शीर्षक: पिता की महत्वपूर्ण सीख !

यह कहानी एक गाँव में एक छोटे से लड़के की है, जिसका नाम राजू था। राजू का पिता बहुत ही ज्ञानी और अच्छे संस्कारवान थे। वह अपने बेटे को जीवन के महत्वपूर्ण सिख देना चाहते थे।

एक दिन, पिता ने राजू से कहा, “बेटा, तुम्हें यह सिखना है कि सफलता पाने के लिए मेहनत करनी पड़ती है।” वह उसे एक बगीचे में ले गए और उसे एक पौधे के पास खड़ा कर दिया।

पिता ने कहा, “राजू, इस पौधे को देखो, यह छोटा है, लेकिन इसमें मेहनत करने वाली ताकत है। तुम्हें भी इसी तरह मेहनत करनी होगी, अगर तुम सफलता पाना चाहते हो।”

राजू ने अपने पिता की सिख को समझा और वह मेहनत करने का निश्चय किया। वह ध्यान से पढ़ाई करने लगा और अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मेहनत करता रहा।

समय बीता और राजू ने अपने मेहनती प्रयासों से सफलता पाई। वह अपने पिता की सिख को आगे बढ़ाते हुए अपने लिए एक बेहतर भविष्य बनाने में सफल रहे।

निष्कर्ष: इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि मेहनत, समर्पण, और अच्छे संस्कार सफलता की कुंजी होते हैं। पिता की सीख ने राजू को जीवन में महत्वपूर्ण मार्गदर्शन प्रदान किया और उसने मेहनत करके अपने लक्ष्य को पूरा किया।

आपको ये पसंद आये तो जरूर आप शेयर कीजिये ! जय हिंद !

share this ;

Leave a Comment